OMG2 फिल्म के विरोधक: क्या है उनका आरोप? | भारतीय संस्कृति के खिलाफ OMG2 फिल्म का विरोध

Posted by

Spread the love

यहां हम आपको एक रोचक और अनोखी फिल्म के बारे में बताएँगे, जिसका नाम है “OMG2”. इस फिल्म को A सर्टिफिकेट मिलने के बाद से विरोध तेजी से बढ़ रहा है। इसकी रिलीज तारीख 11 अगस्त 2023 है। फिल्म के निर्माताओं ने नए ट्रेलरों के माध्यम से लोगों को फिल्म के प्रति आकर्षित करने का प्रयास किया है।

ओ एम जी 2 (OMG2) फिल्म के विरोध में वृद्धि

आवाज उठने की वजह:

OMG2 फिल्म के A सर्टिफिकेट प्राप्त होने के बाद से उज्जैन में फिल्म के विरोध में तेजी से बढ़ोतरी हुई है। फिल्म के निर्माताओं ने नए ट्रेलरों के जरिए लोगों को फिल्म के प्रति दर्शकों को आकर्षित करने का प्रयास किया है। लेकिन इसमें महाकाल मंदिर के सीन्स को लेकर उठे सवालों ने भी विरोधकों को जुटा दिया है। जानिए कैसे यह विवाद बढ़ा है और आगामी दिनों में क्या हो सकता है।

1. फिल्म का नाम: “OMG2 एक रोचक और अनोखी फिल्म है, जिसमें अक्षय कुमार और पंकज त्रिपाठी ने अभिनय किया है। फिल्म की रिलीज तारीख 11 अगस्त 2023 है,

2. फिल्म के नायक: अक्षय कुमार इस फिल्म में भगवान शिव के रूप में दिखेंगे और पंकज त्रिपाठी एक भक्त का किरदार निभाएंगे। इसके अलावा आपको यामि गौतम भी देखने को मिलेंगी |

3. महाकाल मंदिर के सीन्स का विवाद: फिल्म के निर्माताओं को A सर्टिफिकेट मिलने की उम्मीद है, जिससे कुछ लोग असंतुष्ट हैं। महाकाल मंदिर के पुजारी पंडित महेश गुरु ने इस फिल्म के खिलाफ विरोध शुरू किया है। उनका कहना है कि यह एक अश्लील फिल्म है और उसे A सर्टिफिकेट मिलने पर भी वह इसे अश्लील मानते हैं। फिल्म में महाकाल मंदिर के सीन्स को लेकर विवाद शुरू हो गया है।

4. विरोधकों के अनुरोध और आंदोलन: विरोधक उनके अनुरोध कर रहे हैं कि जब तक फिल्म में महाकाल मंदिर के सीन्स हटाए नहीं जाते, तब तक वे इसका विरोध करेंगे। इसके बाद भी, यदि फिल्म रिलीज होती है, तो उन्हें न्यायालय जाने का वादा है और फिर उन्हें FIR दर्ज कराने का भी विचार है। वे चाहते हैं कि फिल्म निर्माता सेंसर बोर्ड के दिए गए निर्देशों का पालन करें और विवादित सीन्स को संशोधित करें।

OMG2

5. सेंसर बोर्ड की भूमिका: सेंसर बोर्ड ने OMG2 फिल्म को A सर्टिफिकेट देने के लिए कई कट किए हैं और विवादित सीन्स को बदल दिया गया है। इससे भी  विरोधकों के असंतुष्टि का समाधान नहीं हुआ है और उन्हें यह भी ठीक नहीं लगा कि फिल्म मे अभी भी महाकाल मंदिर से जुड़े सीन्स शामिल किए हैं।

6. निष्कर्ष: यह विवाद दिखाता है कि OMG2 फिल्म निर्माताओं को धार्मिक स्थलों के साथ जुड़ी चीजों पर विशेष ध्यान देना होगा। फिल्मों को निर्माण करते समय सामाजिक और धार्मिक मूल्यों का सम्मान करना आवश्यक है। सेंसर बोर्ड को भी इस बात का ध्यान रखना होगा कि वे फिल्मों को संवैधानिक और धार्मिक संस्कृति के नियमों के अनुसार मूल्यांकन करें।

आने वाले समय में देखा जाए, कि इस विवाद का समाधान कैसे निकलता है और फिल्म को लेकर लोगों की राय में कैसे बदलाव होता है।

Read This – शाहरुख खान की आने वाली फिल्म 


Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: